New Year 2023 Prediction: 2023 में भारत वर्ष संपूर्ण विश्व में अपना स्थान प्राप्त करेगा. भारत की परंपरा, रीति-रिवाज और संस्कृति के लिए समय अच्छा रहेगा. मूलभूत सुविधाओं के लिए प्राचीन पद्धति को बढ़ावा मिलेगा. संपूर्ण विश्व में भारत का नेतृत्व सराहनीय रहेगा. विदेश संबंधी नीतियों का परिवर्तन होने के योग हैं. देश-विदेश संबंधित विवाद शांत होने के योग हैं.

New Year 2023 Prediction: नये साल 2023 में छिड़ेंगे भारत में युद्ध, भारत में फिर आएगा लॉकडाउन? पंडित ने भविष्यवाणियां की क्या ऐसा होगा

New Year 2023 Prediction: साल 2023 में अनेक बदलाव संभव हैं. इस वर्ष मनुष्यों और जीव-जंतुओं को लाभ होगा और सभी की सकारात्मक प्रवृत्ति में निखार आएगा. साथ ही साथ जीवन के बहुमूल्य बदलाव सामने आएंगे. नए साल 2023 में भारत की स्थिति को लेकर इंदौर के ज्योतिषाचार्य पंडित गिरीश व्यास ने भविष्यवाणी की है. आइए जानते हैं कि उनकी भविष्यवाणी में भारत को लेकर कौन सी खास बातें शाामिल हैं.

गृह स्थिति

साल 2023 में घरेलू स्थितियां अच्छी बनेंगी और प्रेम संबंधों में सुधार होगा. तलाक संबंधी मामले सुलझेंगे. लोग अपने निजी जीवन को लेकर खासा उत्साहित रहेंगे. संसार में अद्भुत शक्तियों का विकास होगा, जिससे सुख-सुविधाओं को पूर्ण करने और भौतिक वस्तुओं का समावेश करने में सहायता प्राप्त होगी. स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं थोड़ी बढ़ सकती हैं पेट और हृदय से संबंधित विकार उत्पन्न हो सकते हैं.

देश-विदेश

2023 में भारत वर्ष संपूर्ण विश्व में अपना स्थान प्राप्त करेगा. भारत की परंपरा, रीति-रिवाज और संस्कृति के लिए समय अच्छा रहेगा. मूलभूत सुविधाओं के लिए प्राचीन पद्धति को बढ़ावा मिलेगा. संपूर्ण विश्व में भारत का नेतृत्व सराहनीय रहेगा. विदेश संबंधित नीतियों में परिवर्तन होने के योग हैं. देश-विदेश संबंधित विवाद शांत होने के योग हैं. विदेशों में लंबे समय से चल रहे युद्ध का विराम 2023 में हो सकता है.

इस साल शनि के परिवर्तन मात्र से बड़े युद्ध की आशंका है, लेकिन अपने स्थान पर बैठा गुरु इसे निर्मित नहीं होने देगा. नतीजन आपसी सुलह होने के योग बनेंगे. चीन और जापान को लेकर आंशिक दुर्घटनाओं की खबरें सामने आएंगी. जल प्रपात, भूस्खलन जैसी घटनाएं होंगी. आतंकवाद बढ़ने के योग बनेंगे, जिससे भारत और उसके नजदीकी देशों में समस्याएं आ सकती हैं. इस वर्ष धर्म-जाति को लेकर मुख्य कार्य संपन्न होंगे. धर्म का परचम बुलंद रहेगा और भारत को विश्व गुरु बनने के मार्ग प्रशस्त होंगे.

New Year 2023 Prediction: नये साल 2023 में छिड़ेंगे भारत में युद्ध, भारत में फिर आएगा लॉकडाउन? पंडित ने भविष्यवाणियां की क्या ऐसा होगा

खेलकूद को लेकर भी भारत अग्रणी रहेगा. ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका भी अच्छा खासा नाम कमा सकते हैं. विश्व युद्ध की स्थिति निर्मित होते-होते शांत हो जाएगी. राहु की स्थिति 13 जनवरी 2023 से बदल जाएगी, जिसके कारण युद्ध शांत होंगे. आर्थिक स्थितियां सुधरेंगी और व्यापार व्यवसाय में वृद्धि होगी. शेयर बाजार में काफी उछाल रहेगी. अपने करीबी देशों से संबंध अच्छे रखना लाभकारी सिद्ध होगा. इस वर्ष न्यायालय के मामले ज्यादा बढ़ सकते हैं और आंतरिक विवाद, मर्डर, चोरी जैसी घटनाएं अधिक घटित हो सकती है.

यह भी पढ़े :-

आर्थिक स्थिति

भारत की आर्थिक व्यवस्थाओं की चर्चा करें तो 2023 भारत की अर्थव्यवस्था के लिए बड़ा ही अनुकूल वर्ष रहने वाला है. इसमें भारत की जीडीपी और आर्थिक कोश बढ़ने के योग हैं तथा सामान्य जन के लिए भी आर्थिक स्थिति सुगम बनी रहेगी, जिससे प्रत्येक मनुष्य भौतिक वस्तुओं का आदान-प्रदान बड़ी सरलता से कर पाएगा. प्रॉपर्टी संबंधी कई सौदे होने के योग बनेंगे. वर्ष के मध्य में थोड़ी परेशानी दिखाई दे सकती हैं. मई से जुलाई के बीच आर्थिक स्थिति धीमी पड़ सकती है. लेकिन इसके बाद आर्थिक स्थिति फिर से बेहतर होने से मन प्रसन्न रहेगा. इस वर्ष वायु सेना, सांस्कृतिक आयोजन और सामाजिक गतिविधियों में अधिक धन खर्च होने के भी योग हैं. आपदाओं के मामले में भी सतर्क रहना होगा.

राजनीतिक स्थिति

राजनीतिक स्थिति को देखते हुए भारत की पुनः जीत होगी. अपने मूलभूत लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए राजनीतिक चेहरे सर्वमान्य ना होकर विशेष रूप से प्रगति करेंगे. सांस्कृतिक स्थिति, सामाजिक गतिविधियों की बढ़ोतरी से भारत में अपनी पहचान बनाने में सक्षम होगा. राजनीति के लिए सभी की सोच सकारात्मक बनने के योग हैं. कई बड़े नेताओं की शोक संबंधी या मृत्यु संबंधी सूचनाएं प्राप्त होंगी, जो भारत के लिए बड़ी क्षति होंगी. वर्ष का मध्य थोड़ा कठिन निकल सकता है, लेकिन नई सोच व विचारों के साथ पुनः आगे बढ़ने के भी योग हैं.

New Year 2023 Prediction: नये साल 2023 में छिड़ेंगे भारत में युद्ध, भारत में फिर आएगा लॉकडाउन? पंडित ने भविष्यवाणियां की क्या ऐसा होगा

अनुभवी व कर्मठ लोगों को इस वर्ष राजनीति में अवसर मिल सकता है. इन्हें अपनी योग्यता दिखाने का अवसर प्राप्त होगा. भारत राजनीतिक क्षेत्र में बड़ी योग्यताओं और सफलताओं के साथ पुन: आगे बढ़ेगा. राजनीतिक अंतर्द्वंद बढ़ने के योग हैं, जिससे आपसी मतभेद और टीम के विस्तार में कमी आएगी. एक नई पार्टी की छवि सकारात्मक हो सकती है, जिससे राजनीति में कई बदलाव नजर आएंगे. वैश्विक समस्याओं का सामना भी हमें करना पड़ेगा, जिसमें राजनीति एक मुख्य कारण हो सकता है.

महामारी का प्रभाव

कोरोना की भविष्यवाणी को लेकर कई तथ्य सामने आते हैं. 17 जनवरी शनि देवता का कुंभ राशि में परिवर्तन और 16 फरवरी को शुक्र में से राहु का जाना लॉकडाउन की स्थिति को उत्पन्न कर रहा है. लेकिन गुरु और सूर्य की स्थिति ठीक होने से हल्का लॉकडाउन हो सकता है. लेकिन 05 अप्रैल से लेकर 16 जून तक की स्थिति भारत के लिए थोड़ी विकट हो सकती है. आर्थिक व्यवस्थाओं में थोड़े नकारात्मक परिवर्तन देखने को मिल सकते है, जिसमें युद्ध, स्वास्थ्य और आर्थिक विफलता होने के योग रहेंगे. धर्म का ह्रास आपसी मतभेद को उत्पन्न कर सकता है.

सांस्कृतिक एवं खेल

सांस्कृतिक एवं खेल से संबंधित कई सारी गतिविधियां सामने आएंगी जो भारत के लिए अति श्रेष्ठ होंगी. खेल के क्षेत्रों में भारत गोल्ड या सिल्वर ला सकता है. नए खिलाड़ियों के साथ आगे बढ़ सकता है. सांस्कृतिक आयोजनों में भारतीय संस्कृति और पुरानी परंपराओं को लेकर काम किया जाएगा, जिससे भारतीय मूल्य उजागर होंगे और मनुष्य में सकारात्मक परिवर्तन आने का प्रयास होगा. सांस्कृतिक आपदाएं जैसे किसी सांस्कृतिक स्थल पर आग लगना या बाढ़ आना जैसी घटनाएं हो सकती हैं. सांस्कृतिक या कला के क्षेत्र से जुड़े लोगों का जाना हमें क्षति पहुंचा सकता है.

शिक्षा

शिक्षा के क्षेत्र से जुड़े हुए लोगों को यह वर्ष खासा लाभ पहुंचा सकता है. कई लोगों को शिक्षा संबंधी नौकरियां भी दे सकता है. कई वर्षों से चली आ रही शिक्षा संबंधी समस्याओं का निदान भी इस वर्ष हो सकता है, जिससे अनुभवी लोगों को अपनी मंजिल तक पहुंचने में परेशानियों का कम सामना करना पड़ेगा और योग्यता के अनुसार प्रोजेक्ट व पद प्राप्त होंगे. शिक्षा क्षेत्र में कई विचार और खबर सामने आएंगी, जो शिक्षा की नई पद्धति पर काम करने को प्रेरित करेंगी. इससे भारतीय मूल्य उजागर होंगे और बच्चों में वांछनीय परिवर्तन लाने का प्रयास करेंगे.

इस वर्ष शिक्षा से जुड़े हुए लोगों को खासा परिश्रम और मेहनत करने की आवश्यकता है, जिसमें आपकी पद प्रतिष्ठा तथा मान सम्मान बढ़ने के भी योग बनेंगे. भारत में कई नए चेहरे सामने आएंगे और वास्तविक रूप से शिक्षा क्षेत्र में काम करने वालों को सम्मान व पुरस्कार भी प्राप्त होंगे. आईटी कंपनियों से जुड़े क्षेत्र में युवाओं का खासा रुझान होगा और विज्ञान के क्षेत्र में कई नए परिवर्तन सामने आएंगे. राज्य स्तरीय और केंद्र स्तरीय प्रोफेसर व शिक्षा संबंधी पात्रता परीक्षा में सम्मिलित होने वाले युवाओं को लाभ पहुंचेगा.

Disclaimer: इस खबर को पढ़कर इंटरनेट पर रीसर्च ज़रूर कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है, उसकी पुष्टि gkkhabar.com द्वारा नहीं की गई है यह सारी जानकारी हमें सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए प्राप्त हुई है और इसे मनोरंजन और सूचना के लिए तैयार किया गया है।

Social Media Groups:

Whatsapp

Telegram

By Aaryan

You missed