G-20 Summit:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान बाली में भारतीय मूल के लोगों को संबोधित किया. पीएम मोदी ने कहा कि जिस जगह के साथ भारत का हजारों वर्षों से रिश्ता रहा हो, जहां सैकड़ों पीढ़ियां गुजर गई, लेकिन जहां के लोगों ने अपनी परंपरा को जीवित रखा वहां के लोग, उस धरती पर आकर एक अलग ही आनंद मिलता है.

G-20 Summit:बाली में भारतवंशियों से बोले PM नरेंद्र मोदी-भारत का हजारों वर्षों से रिश्ता रहा:
G-20 Summit

G-20 Summit: बाली में भारतवंशियों से बोले PM नरेंद्र मोदी:

बाली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भारतीय समुदाय के लोगों ने जोरदार स्वागत किया. बाली के जिस हॉल में पीएम मोदी का संबोधन था वहां पहुंचते ही लोगों ने मोदी-मोदी, भारत माता की जय, वंदे मातरम के नारे लगाए.

पीएम मोदी ने कहा कि कई पीढ़ियां गुजर गईं लेकिन आपने कभी भी अपनी परंपरा को ओझल नहीं होने दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब मैं आपको यहां संबोधित कर रहा हूं तो यहां से 1500 किलोमीटर दूर भारत के कटक में बाली जात्रा का उत्सव मनाया जा रहा है. जो भारत और इंडोनेशिया के संबंधों का परिचायक है.

इन्हें भी पढ़ें:-

समंदर की लहरों की तरह जीवंत हैं भारत और इंडोनेशिया के रिश्ते

पीएम मोदी ने कहा कि हमलोग अक्सर बातचीत में कहते हैं कि It’s a small world. भारत और इंडोनेशिया के संबंधों को लेकर ये बात तो बिल्कुल सटीक बैठती है. समंदर की विशाल लहरों ने भारत और इंडोनेशिया के संबंधों को लहरों की तरह ही उमंगर से भरा और जीवंत रखा है.

विडोडो जी के साथ पतंग उड़ाने में जो मजा आया था

पीएम मोदी ने कहा कि जब मैं यहां पिछली बार जकार्ता में था तो इंडोनेशिया के लोगों का स्नेह बहुत करीब से देखा और महसूस किया था. राष्ट्रपति जोको विडोडो जी के साथ पतंग उड़ाने में जो मजा आया था वो अदभूत था.मेरी तो गुजरात में संक्रांति पर पतंग उड़ाने की बड़ी ट्रेनिंग है.

G-20 Summit:बाली में भारतवंशियों से बोले PM नरेंद्र मोदी-भारत का हजारों वर्षों से रिश्ता रहा:
G-20 Summit

बाली की धरती महर्षि मार्कन्डेय और अगस्त्य के तप से पवित्र

पीएम मोदी ने इंडोनेशिया के साथ भारत के संबंधों को याद करते हुए कहा कि बाली की धरती महर्षि मार्कन्डेय और अगस्त्य के तप से पवित्र है. भारत में अगर हिमालय है तो इंडोनेशिया में आगुंग है.

भारत में अगर गंगा है तो बाली में तीर्थ गंगा है. हम भारत में हर काम की शुरुआत श्रीगणेश से करते हैं. यहां भी श्री गणेश घर-घर विराजमान हैं.

अयोध्या में राम मंदिर बनता है तो इंडोनेशिया की रामायण परंपरा याद आती है अयोध्या का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर की नींव रखी जाती है तो हम भी इंडोनेशिया की रामायण परंपरा को गर्व से याद करते हैं. आज इंडोनेशिया में रहने वाले भारतीय अयोध्या का दर्शन करना चाहते हैं. आज का भारत छोटा सोचता ही नहीं है पीएम मोदी ने कहा कि आज का भारत छोटा सोचता ही नहीं है.

आज भारत सबसे तेजी से बढ़ने वाली इकोनॉमी है. आज भारत बड़े लक्ष्य तय कर रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि भारत का टैलेंट, भारत की तकनीक, भारत का इनोवेशन और भारत की इंडस्ट्री ने आज दुनिया में अपनी पहचान बनाई है. उन्होंने कहा कि 2014 के पहले और 2014 के बाद भारत में स्पीड और स्केल का बहुत बड़ा फर्क आया है.

आज भारत अभूतपूर्व स्पीड से काम कर रहा है और अप्रत्याशित स्केल पर काम कर रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि कोरोनाकाल में हमने देखा है कि भारत ने दवाइयों से लेकर वैक्सीन तक जरूरी संसाधनों के लिए आत्मनिर्भरता हासिल की और इसका लाभा पूरी दुनिया को मिला. भारत की सामर्थ्य ने कितने ही देशों के लिए एक सुरक्षा कवच का काम किया. उन्होंने कहा कि हमनें अपने देश के नागरिकों को कोरोना का मुफ्त वैक्सीन लगवाया

पीएम मोदी ने कहा कि भारत और इंडोनेशिया 90 नॉटिकल मील दूर नहीं है, बल्कि हम 90 नॉटिकल मील पास हैं. उन्होंने कहा कि भारत और इंडोनेशिया एक दूसरे के सुख-दुख के साथी रहे हैं. पीएम मोदी ने अगले साल इंदौर में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए बाली में मौजूद लोगों को आने का न्यौता दिया. पीएम ने कहा कि आप अकेले मत आइए, इंडोनेशिया के दो तीन परिवारों को ले आइए और भारत की समृद्ध परंपरा का अनुभव कीजिए

Social Media Groups:

Whatsapp

Telegram

By Aaryan