Amit Shah Assembly elections : अमित शाह ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव कर्नाटक में बीजेपी सरकार ,

Amit Shah Assembly electionsकेंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आगामी चुनावों के माहौल के बीच बेंगलुरू पहुंचे हैं. यहां पर उन्होंने अपने कार्यकर्ताओं और बीजेपी नेताओं के साथ मुलाकात की है. यहां पर अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा है कि दूसरी पार्टी वाले लोगों में भ्रम फैला रहे हैं.

Amit Shah Assembly elections : अमित शाह ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव कर्नाटक में बीजेपी सरकार ,

बीजेपी कर्नाटक में अकेले ही चुनाव लड़ेगी और जीतेगी भी. शाह ने यह भी स्पष्ट किया कि वह जेडीएस के साथ किसी तरह का गठबंधन नहीं करेंगे. शाह ने कहा कि बीजेपी आगामी चुनाव के नतीजों मे कर्नाटक मे सरकार बना रही है. बता दें कि 2023 में कर्नाटक में विधानसभा चुनाव होने हैं जिसके चलते शाह ने राज्य के सभी नेताओं और बूथ कार्यकर्ताओं को संबोधित किया है.

Amit Shah Assembly elections : अमित शाह ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव कर्नाटक में बीजेपी सरकार ,

इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘जो लोग जेडीएस से जुड़े हैं वह अफवाहें फैला रहे हैं कि वह बीजेपी के साथ गठबंधन कर रहे हैं. मैं कर्नाटक को बताना चाहता हूं कि बीजेपी आगामी चुनावों मे अकेले चुनाव लड़ेगी और सरकार बनाएगी.उन्होनों राज्य की जनता से यह अपील भी की है कि वह अधूरी सरकार को न चुनें. उन्होंने कहा, ‘ अधूरी सरकार को न चुनें, दो तिहाई बहुमत के साथ कर्नाटक में सरकार बनाएं.

यह भी पढ़े :-

Amit Shah Assembly elections : अमित शाह ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव कर्नाटक में बीजेपी सरकार ,

कांग्रेस के लिए भ्रष्टाचार का साधन है सत्ता

उन्होंने कहा कि, ‘2022 में सात राज्यों में चुनाव हुए, सात में से पांच राज्य में बीजेपी ने पूर्ण बहुमत प्राप्त किया है. जबकि सात में से छह राज्यों में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो गया है.’ अपने भाषण के दौरान कांग्रेस पर भी निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि, ‘चुनाव के दौरान कांग्रेस नई-नई चीजें लेकर आ जाती है क्योंकि कांग्रेस के लिए सत्ता भ्रष्टाचार करने का एक साधन है. जबकि हमारे लिए सत्ता समाज के हर व्यक्ति को सुख देने का साधन है.

Amit Shah Assembly elections : अमित शाह ने कहा आगामी विधानसभा चुनाव कर्नाटक में बीजेपी सरकार ,

शाह ने इस दौरान पीएफआई संगठन और कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई को भी याद कराया. उन्होंने कहा कि, ‘यह मोदी ही थे जिन्होंने आगे बढ़कर नेतृत्व किया और देश के खिलाफ गैरकानूनी गतिविधियों के लिए पीएफआई पर प्रतिबंध लगा दिया. इस दौरान उन्होंने सिद्धारमैया और कुमारस्वामी पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘दूसरी तरफ सिद्धारमैया और कुमारस्वामी वे हैं जिन्होंने पीएफआई के 1,700 सदस्यों के खिलाफ दर्ज मामलों को वापस ले लिया

Disclaimer: इस खबर को पढ़कर इंटरनेट पर रीसर्च ज़रूर कर लें और किसी भी तरह के कानून का उल्लंघन न करें इस खबर में जो भी जानकारी दी गई है, उसकी पुष्टि gkkhabar.com द्वारा नहीं की गई है यह सारी जानकारी हमें सोशल मीडिया और इंटरनेट के जरिए प्राप्त हुई है और इसे मनोरंजन और सूचना के लिए तैयार किया गया है।

Social Media Groups:

Whatsapp

Telegram

By Aaryan